भारती एयरटेल ने मार्च तिमाही में 5237 करोड़ रुपये का घाटा

ई दिल्ली,(Realtimes) देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी में से एक भारती एयरटेल ने साल 2019-20 मार्च की मार्च तिमाही का घाटा 5237 करोड़ दिखाया है. कंपनी ने कहा है कि यह घाटापुराने सांविधक बकाये को लेकर व्यय के ऊंचे प्रावधान करने के कारण हुआ है. वित्त वर्ष 2018-19 में इसी तिमाही में भारती एयरटेल को 107 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ था.

कंपनी का रेवेन्यू 23,700 करोड़ रुपये से ज्यादा
कंपनी का एकीकृत राजस्व आलोच्य तिमाही के दौरान करीब पंद्रह फीसदी सुधर कर 23,722.7 करोड़ रुपये रहा. यह 2018-19 की समान तिमाही में 20,602.2 करोड़ रुपये रहा था. कंपनी ने 31 मार्च 2020 को समाप्त तिमाही के दौरान 7,004 करोड़ रुपये का अलग से प्रावधान किया. इसमें अधिकांश हिस्सा विधायी बकाये को लेकर है.

मार्च 2020 में खत्म वित्त वर्ष में कंपनी को इसी तरह के बड़ी राशि के प्रावधान के चलते 32,183.2 करोड़ रुपये का घाटा हुआ. वर्ष के दौरान कंपनी का कुल राजस्व 87,539 करोड़ रुपये रहा.

वित्त वर्ष 2018-19 में कंपनी को 409.5 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था और उस वर्ष राजस्व 80,780.2 करोड़ रुपये था.

एयरटेल बिजनेस की वर्क एट होम पेशकश
एयरटेल बिजनेस ने कारोबारों के लिए ‘वर्क फ्रॉम होम’ समाधान पेश किया. कंपनी की यह पेशकश कर्मचारियों को सुरक्षित तरीके से अपने घर से आफिस का काम करने में मदद करेगी.

एयरटेल बिजनेस, भारती एयरटेल की कारोबारों (बी2बी) को सेवाएं देने वाली इकाई है. कंपनी ने एक बयान में कहा कि ‘वर्क@होम’ सेवा इंटरनेट कनेक्टिविटी के माध्यम से कर्मचारियों को ‘घर पर कार्यालय जैसा अनुभव’ प्रदान करती है. इसके अलावा इसके साथ कंपनी सहयोगी व्यवस्था और साइबर सुरक्षा जैसे समाधान भी जोड़कर दे रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *