World population day: विश्व जनसंख्या दिवस 11 जुलाई पर विशेष

World population day, On 11th of July, Special,

जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा आज से

रायपुर(realtimes) संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं छत्तीसगढ़ शासन की ओर से प्रदेश भर में 27 जून से 10 जुलाई तक जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़ा के अंतर्गत सूचना शिक्षा संचार की गतिविधियां संपन्न हुई। इस दौरान एक ओर जहां जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़ा वाहन के जरिए परिवार नियोजन साधनों को अपनाने के लिए जनजागरूकता की फैलाई गई। वहीं दूसरी ओर लक्ष्य दंपत्तियों को चिन्हांकित किया गया , जिन्हें जनसंख्या स्थीरता पखवाड़े के अंतर्गत परिवार नियोजन की सेवाएं प्रदान की जाएंगी।

डॉ. अखिलेश त्रिपाठी राज्य के वरिष्ठ फैमिली प्लानिंग अधिकारी ने बताया विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर प्रदेश में आज 11 जुलाई से जनसंख्या स्थीरता पखवाड़ा आयोजित होगा जो कि 24 जुलाई तक चलेगा। इस दौरान परिवार नियोजन की सेवाएं प्रदान करने के साथ ही सीमित परिवार के लिए कई तरह के आयोजन और प्रतियोगिताएं होंगी। साथ ही साथ प्रदेश भर में 27 जून से 10 जुलाई तक लक्ष्य दंपत्ति संपर्क पखवाड़ा आयोजित किया गया था। मितानिन और एएनएम के जरिए समुदाय के चिन्हांकित दंपत्ती जिन्हें स्थाई या अस्थाई परिवार नियोजन साधन अपनाने की इच्छा हो उन्हें सूचीबद्ध किया गया। इन सूचीबद्ध लक्ष्य दंपत्तियों को 11 जुलाई से 24 जुलाई के बीच चिन्हांकित शासकीय स्वास्थ्य केन्द्रों में परिवार नियोजन साधन की सेवाएं प्रदान होंगी। इसके लिए जागरूकता का कार्य बीते 27 जून से किया जा रहा है।

आयोजित होंगी कई प्रतियोगिताएं – 11 जुलाई से 24 जुलाई जनसंख्या स्थीरता पखवाड़े के मद्देनजर जिला स्तरीय प्रदर्शनी और परामर्श केन्द्र के जरिए परिवार नियोजन साधनों के उपयोग हेतु जागरूकता फैलाई जाएगी। वहीं जिला एवं विकासखंड स्तर पर विभागीय कार्यकर्ताओं के लिए स्लोगन प्रतियोगिता, कॉलेज के विद्धार्थियों के लिए मानव श्रृंखला निर्माण एवं स्लोगन , वॉल पेंटिंग प्रतियोगिताएं आयोजित होंगी। वहीं इस दौरान चयनित और सूचीबद्ध लक्ष्य दंपत्तियों का परिवार नियोजन ऑपरेशन होंगे। परिवार नियोजन की सभी विधियों की सेवाएं स्टैन्डर्ड एवं क्वालिटी एश्योरेंस (एसओपी 2014) मानकों का पूर्णतः पालन करते हुए किए जाएंगे।

सास बहू सम्मेलन से जगाई गई छोटे परिवार की महत्ता की अलख- डॉ. अखिलेश त्रिपाठी राज्य फैमिली प्लानिंग वरिष्ठ अधिकारी ने बताया 27 से 10 जुलाई के बीच लक्ष्य दंपत्ति संपर्क पखवाड़ा मनाया गया। प्रदेश भर में इस दौरान सास बहू सम्मेलन और मोर मितान मोर संगवारी का आयोजन हुआ।

पुरूषों के जरिए परिवार नियोजन की जगाई अलख- 27 जून से 10 जुलाई के मध्य  मोर मितान मोर संगवारी कार्यक्रम के जरिए ऐेसे ग्राम जहां दो बच्चे वाले असुरिक्षत दंपत्ति ज्यादा हैं, वहां पुरूष नसबंदी को प्रोत्साहन देने के लिए पुरूष भागीदारों की बैठक आयोजित हुई। इस दौरान एक पुरूष जिसने अपनी नसबंदी कराई है, अपने अनुभव बताए तथा लोगों की पुरूष नसबंदी को लेकर मन की शंकाओं , जिज्ञासाओं का समाधान कर उन्हें परिवार नियोजन के लिए नसबंदी कराने के लिए प्रेरित किया। ऐेसे पुरूष नसबंदी कराए लाभार्थियों को सम्मानित किया गया।

इसलिए मनाया जाता है विश्व जनसंख्या दिवस- विश्वभर में  हर सेकंड बढ़ रही जनसंख्या और जनसंख्या संबंधी मुद्दों की गंभीरता और महत्व पर ध्यान दिलाने के लिए प्रतिवर्ष 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। यह वह दिन था जब विश्व की जनसंख्या 11 जुलाई 1989 को पांच अरब थी, इस दिन इस वार्षिक कार्यक्रम की स्थापना की अगुवाई हुई थी। यानि इस दिन की शुरूआत संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) की शासी परिषद द्वारा पहली बार 1989 में आयोजित हुआ। संयुक्त राष्ट्र की गवर्निंग काउंसिल के फैसले के अनुसार, वर्ष 1989 में विकास कार्यक्रम में विश्व स्तर पर समुदाय की सिफारिश के द्वारा यह तय किया गया था कि हर साल 11 जुलाई विश्व जनसंख्या दिवस के रूप में मनाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *