अफसरों पर सख्त CM भूपेश, बोले- काम में लापरवाही बर्दाश्त नहीं

कलेक्टर-एसपी के साथ कान्फ्रेंस

रायपुर(realtimes) CM भूपेश बघेल ने गुरुवार को मंत्रालय के महानदी भवन में कलेक्टर्स काॅन्फ्रेंस ने करीब दो दर्जन से अधिक महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर राज्य शासन के वरिष्ठ अधिकारियों तथा जिलों के अधिकारियों के साथ विस्तार से समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को सख्त हिदायत दी कि शासकीय कार्यों के निर्वहन में किसी भी प्रकार की कोताही नहीं करें और शासकीय कार्यों को समय-सीमा में गुणवत्तापूर्ण रूप से करें। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सुराजी गांव योजना (नरवा, गरूवा, घुरवा और बाड़ी) खेती-किसानी और पशुपालन की मजबूती के साथ-साथ ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने एक प्रभावी योजना है। यह कोई नया प्रयोग नहीं है बल्कि यह व्यवस्था छत्तीसगढ़ में परम्परागत रूप से रही हैं। इसे वर्तमान दृष्टि से फिर से उपयोगी बनाने की जरूरत है। मवेशियों के खुले में विचरने से जहां किसानों को खेती में कई प्रकार से दिक्कतें आ रही हैं, वहीं सड़क दुर्घटनाओं की संख्या भी बड़ी है। गौठान निर्माण और चारागाह विकास से इस समस्या पर नियंत्रण लगेगा।  जहां गौठान निर्माण हुआ है और पेयजल छाया आदि की व्यवस्था हो गई है। वहां पशुओं का आना शुरू हो गया है। जनसहभागिता से चारा की व्यवस्था की जा रही है। 

बैठक में मुख्य सचिव सुनील कुजूर, अपर मुख्य सचिव के.डी.पी. राव, अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *