करारी हार के बाद बोले शाह, नहीं देने चाहिए थे ‘देश के गद्दारों’ जैसे बयान

Union Home Minister Amit Shah, Congress, Protest against CAA,

नई दिल्ली(Realtimes) दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिली करारी हार के बाद पहली बार केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने माना है, कि ‘देश के गद्दारों को’ जैसे बयान पार्टी की ओर से नहीं देने चाहिए । उन्होने आशंका भी जताई की हो सकता हो कि पार्टी के नेताओं द्वारा दी गई हेट स्पीच से पार्टी को नुकसान हुआ हो । अमित शाह ने यह बातें एक  चैनल के कार्यक्रम में कहीं.

दिल्ली चुनाव में कोई पहली बार परिणाम विपरीत नहीं आए हैं, कई बार विपरीत परिणाम आए हैं, तब भी इतनी ही जी जान से मैंने काम किया। अमित शाह ने कहा कि हम सिर्फ हार या जीत के लिए चुनाव नही लड़ते हैं। बीजेपी एक ऐसी पार्टी है जो अपनी विचारधारा के विस्तार में विश्वास रखती है। अमित शाह ने कहा, ‘जब से मैं राष्ट्रीय राजनीति में आया हूं, तब से मैं जी जान से चुनाव लड़ता रहा हूं।

उन्होंने कहा, ‘जो कोई भी सीएए से जुड़े मुद्दे पर मुझसे बात करना चाहते हैं, वह मेरे कार्यालय से समय ले सकते हैं, तीन दिन के भीतर समय दिया जाएगा।’ उन्होंने कांग्रेस पर धर्म के आधार पर देश का विभाजन करने का आरोप लगाया । उन्होंने कहा कि मैं बीजेपी का कार्यकर्ता हूं, इसलिए ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपनी विचारधारा पहुंचाने की कोशिश करता हूं।

जहां तक प्रदर्शन करने का सवाल है, लोकतंत्र में सबको शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने का अधिकार है। लेकिन बस जलाने का किसी को अधिकार नहीं है। शांतिपूर्ण धरना करना या किसी की बस और स्कूटी जला देना, इन दोनों मामलों में अंतर है।’  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *