मोदी “सरकार-2” के 100 दिनों में निवेशकों के 12.5 लाख करोड़ डूबे

Modi government, 100 days of second term, Investors, 12.5 lakh crores, Drowned,

मुंबई(realtimes) मोदी सरकार ()के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन ()पूरे हो चुके हैं. पिछले 100 दिनों में निवेशकों ()के 12.5 लाख करोड़ रुपये ()डूब गए हैं. 30 मई के बाद से बीएसई सेंसेक्स 2,357 अंक याने 5.96 प्रतिशत और एनएसई निफ्टी सूचकांक 858 अंक याने 7.23 प्रतिशत लुढ़क गया.

विशेषज्ञों के अनुसार, कमज़ोर कॉर्पोरेट आय, विदेशी निधियों का बहिर्वाह और आर्थिक विकास की धीमी गति के कारण इक्विटी मार्केट क्रैश हुआ हैं. भारतीय बाजारों में, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (FPI) शुद्ध विक्रेता रहे हैं.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के पहले बजट में सुपर रिच पर आयकर अधिभार लागू किया, तो बेचने का दबाव बढ़ गया. इनकम टैक्स सरचार्ज एक महीने बाद वापस कर दिया गया.

नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL) द्वारा संकलित आंकड़ों के अनुसार, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने मोदी सरकार के गठन के बाद से 28,260.50 करोड़ रु के शेयर बेचे हैं.

सोमवार को शेयर मार्केट बंद होने तक बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेंड कंपनियों की बाजार पूंजी 144115316.39 करोड़ रुपये थी, जबकि मोदी सरकार के सत्ता संभालने से एक दिन पहले यह बाजार मूल्य 15362936.40 करोड़ रुपये था.

निवेशक बाजार से पैसा निकाल रहे हैं. साथ ही बाजार में नया निवेश करने से कतरा रहे हैं, जो देश की अर्थव्यवस्था के लिए चिंता का विषय है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *