ऑटो सेक्टर मंदा, कारखानों में तालेबंदी

India, financial crisis, auto sector, Lockout in factories, realtimes,

ये कहती है सियाम की रिपोर्ट

नई दिल्ली() मारुति सुजुकी के बाद भारी वाहन बनाने वाली कंपनी अशोक लेलैंड ने भी कम मांग को देखते हुए अपने 5 प्लांट्स में नो वर्क डेज का ऐलान कर दिया है। सितंबर में अशोक लीलेण्ड ने अपने प्लांट्स में 5 से 18 दिन तक कामकाज बंद रखने का ऐलान किया है, कंपनी ने सबसे ज्यादा पंतनगर में 18 दिनों के लिए कामकाज बंद करने का फैसला किया है.

इसके अलावा अलवर में 10 दिन, भंडारा में 10 दिन, एन्नोर में 16 दिन और होसुर के प्लांट में 5 दिन कामकाज बंद रखने का फैसला किया गया है. पिछले सप्ताह मारुति सुजुकी ने भी अपने दो प्लांट्स में दो दिन 7 और 9 सितंबर का नो प्रॉडक्शन डे घोषित किया था। मारुति ने 16 साल बाद ऐसा किया था।

ऑटो सेक्टर के बुरे दिन! 10 साल में पहली बार 2 दिन तक बंद रहेंगे मारुती के प्लांट, ठप्प हुआ प्रोडक्शन

कामकाज बंद करने से पहले अशोक लीलैंड ने भी कर्मचारियों को कंपनी छोड़ने के लिए ऑफर दिया है. बता दें कि प्रोडक्शन और बिक्री में भारी गिरावट की वजह से अप्रैल माह से अब तक ऑटो सेक्टर में करीब 2 लाख से ज्यादा नौकरियां जा चुकी हैं

इस बीच भारतीय आटोमोबाइल विनिर्माता सोसायटी (सियाम) ने भी अगस्त की बिक्री के आंकड़े जारी कर दिए है आंकड़ों के मुताबिक अगस्त 2019 में घरेलू बाजार में कारों की बिक्री 41.09 फीसदी घटकर 1,15,957 कार रह गई जबकि एक साल पहले अगस्त में 1,96,847 कारें बिकी थीं। इस दौरान दुपहिया वाहनों की बिक्री 22.24 प्रतिशत घटकर 15,14,196 इकाई रह गई

आ गई मंदी! सूरत में 200 हीरा कारीगरों को नौकरी से निकाला गया, मालिक बोले- काम नहीं है

अगस्त महीने में कमर्शल वीइकल्स की बिक्री 38.71 पर्सेंट घटकर 51,897 वाहन रही। कुल मिलाकर यदि सभी तरह के वाहनों की बात की जाए तो अगस्त 2019 में कुल वाहन बिक्री 23.55 फीसदी घटकर 18,21,490 वाहन रह गई जबकि एक साल पहले इसी माह में कुल 23,82,436 वाहनों की बिक्री हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *