भारत के टॉप 50 ब्यूरोक्रेट्स में छत्तीसगढ़ के सुब्रत साहू

रायपुर. छत्तीसगढ़ के सुब्रत साहू 1992 बैच के इकलौते ऐसे आईएएस ऑफिसर हैं, जिन्हें सबसे असरदार ब्यूरोक्रेट्स के तौर पर चुना गया है। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ राज्य को इनकी बदौलत विकास की समुचित योजना बनाने, नीतियों को अमलीजामा पहनाने और योजनाओं को सफलतापूर्वक लागू करने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका रही है, समाज और देश के निर्माण में इनका योगदान बहुत महत्वपूर्ण रहा है।

श्री साहू की सरलता और सहजता से अपनाई गई व्यवहारिक कार्यशैली से मिले असरदार परिणामों से छत्तीसगढ़ राज्य ने देश और विदेश में अपनी एक विशिष्ट पहचान भी स्थापित की है। फिर चाहे उनका कार्यकाल अनेक जिलों में कलेक्टर के रूप में हो अथवा प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के रूप में हो या फिर शासन प्रशासन के विभिन्न विभागों के महत्वपूर्ण पदों पर रहकर कार्य करने से मिले परिणामों की बात हो, इन सभी पहलुओं में उनकी विशिष्ट पहचान रही है।

गौरतलब है कि वर्तमान में देश भर में 5000 से ज्यादा आईएएस अधिकारी विभिन्न पदों पर कार्यरत हैं। इनमें से सबसे असरदार आईएएस अधिकारियों के कामकाज को देखने के लिए ब्यूरोक्रेट्स का 2020 में सर्वे करवाया गया है। फेम इंडिया एशिया पोस्ट सर्वे रिपोर्ट की जारी सूची में देश के नामचीन आईएएस अधिकारियों में 1992 बैच के सबसे असरदार आईएएस अधिकारियों में श्री सुब्रत साहू छत्तीसगढ़ राज्य के इकलौते आईएएस ऑफिसर हैं, जिन्हें यह उपलब्धि हासिल हुई है ।

सुब्रत साहू छत्तीसगढ़ राज्य के और 1992 बैच के देश के एकमात्र ऐसे अधिकारी हैं,जो टॉप ब्यूरोक्रेट्स में शामिल हैं। वर्तमान में छत्तीसगढ़ राज्य में सुब्रत साहू अतिरिक्त मुख्य सचिव के पद पर कार्यरत है। वे राज्य के मुख्यमंत्री सचिवालय, गृह एवं जेल विभाग, ऊर्जा विभाग, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग का कामकाज देखने के साथ वाणिज्य एवं उद्योग (रेल लाइन परियोजनाएं) अतिरिक्त प्रभार संभाले हुए हैं। वहीं उन्होंने इसके पूर्व पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, स्कूल शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग जैसे महत्वपूर्ण विभागों की अहम जिम्मेदारियां निभा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *